भगवन विष्णु का पहला अवतार कौन सा है,10 अवतार की फोटो [Bhagvan Vishnu]

इस संसार को चलाने वाले  त्रिदेव में भगवान विष्णु का नाम भी शामिल है  जो सर्प के सईया पर हमेशा सोए रहते हैं उनके हाथों में चक्र और गद्दा होता है  जिसके कारण इन्हें इस पूरे संसार का पालनहार कहा जाता है जिन्होंने इस पृथ्वी को पाप मुक्त बनाने के लिए समय-समय पर अवतार लिए हैं जिसका कार्य और उद्देश्य अलग-अलग है. परंतु क्या आप जानते हैं कि भगवान विष्णु का पहला अवतार कौन सा है?.

भगवन विष्णु का पहला अवतार कौन सा है,10 अवतार की फोटो [Bhagvan Vishnu]

यदि आप भगवान विष्णु (Bhagvan Vishnu) के पहले अवतार के बारे में नहीं जानते हैं तो आइए आज हम इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे कि भगवान विष्णु ने सबसे पहले कौन सा अवतार लिया और साथ में यही जानेंगे कब और क्यों लिया. इसलिए आप  हमारे साथ अंत तक बनी रहे. क्योंकि यहां आपको भगवान विष्णु के पहले अवतार के बारे में सभी जानकारी बिना त्रुटि की मिलेगी.

भगवान विष्णु का पहला अवतार 

भगवान विष्णु का इस पृथ्वी पर सबसे पहला अवतार मत्स्य अवतार है जो आज के समय में इसके नाम पर मत्स्य पुराण नाम रख दिया गया है किसमें आंध्र सातवाहन वंश की जानकारी मिलती है. मत्स्य अवतार में भगवान विष्णु मछली के रूप में इस पृथ्वी पर जन्म लिए थे और उन्होंने इस पृथ्वी को  जीवहीन होने से बचा लिया.  इस कार्य के लिए उन्होंने पृथ्वी पर आने वाले प्रलय से जीवो को बचाने के लिए  एक नाव बनाया और उस नाव में मनुष्य को बैठा कर उस नाव को खींचते हुए प्रलय से बाहर निकाल दिए जिसके परिणाम स्वरूप जीवो का अस्तित्व बच गया इसके अलावा एक अन्य विकास से जुड़ी होती है की हैग्रिव नामक दैत्य ने चारों वेदों को चुरा लिया था और उन्हें समुंद्र की गहराई में छुपा दिया था इसलिए भगवान विष्णु ने मत्स्य रूप धारण करके इस दैत्य का वध कर दिया और वेदों को आजाद करा दिया.इनकी पूरी कथा आगे पढ़ें.  विष्णु चालीसा pdf डाउनलोड 

मत्स्य अवतार की कहानी 

श्री भगवान विष्णु के 10 अवतारों में से सबसे पहला अवतार मत्स्य अवतार है जिस की गाथा का उल्लेख मत्स्य पुराण में मिलता है  मत्स्य अवतार के बारे में यह बताया जाता है कि पृथ्वी पर एक महा प्रलय आने वाला था जिसमें पृथ्वी और सभी जीव जंतुओं का नाश होने वाला था.

पृथ्वी पर भगवान विष्णु का एक परम भक्त मनु था जिसका एक अन्य नाम सत्यव्रत था जो द्रविण देश का राजा था यह जल पीकर तपस्या करते थे जो एक बार सुबह के समय पास के नदी में सूर्य को अर्घ्य दे रहे थे तभी उनके हाथों में एक छोटी मछली आ गई और उसने राजा से कहा कि मुझे आप अपने कमंडल में रख लीजिए नहीं तो मुझे बड़ी मछली खा जाएगी इस बात को सुनकर राजा ने इस मछली को अपने कमंडल में रख लिया परंतु कुछ ही समय बाद मछली कमंडल  की आकार से बड़ी होने लगी और राजा से कहा कि मुझे एक बड़े पात्र में रख दीजिए और अंत में राजा ने इस मछली को समुंद्र में डाल दिया. विष्णु जी का पसंदीदा भोजन क्या है ?

जिसके बाद चमत्कार यह हुआ कि मछली ने पूरी समुंद्र को ढक लिया और उनसे भगवान विष्णु प्रकट हुए और उन्होंने कहा कि यह राजन इस पृथ्वी पर एक महा प्रलय आने वाला है इसलिए आप जड़ी-बूटी, बीज और पशुओं, सप्त ऋषि को एक नाव पर एकत्रित कर दीजिए ऐसा करने के बाद मछली नाव के  एक सिरे को पकड़कर खींचने लगी और अंत में महाप्रलय से पूरे संसार को खत्म होने से बचा लिया. इसके अलावा दूसरी कहानी भी इस अवतार से जुड़ी है  जिसको आगे पढ़ें.

मत्स्य और हयग्रीवासुर की कथा

मत्स्य पुराण में भगवान विष्णु के मछली रूप और हयग्रीवासुर की कहानी का उल्लेख मिलता है. जिसमें यह बताया गया है कि एक बार वेदों के रचनाकार ब्रह्मा जी को नींद आने लगी जिसके फलस्वरूप उनका मुख खुल गया और चरों वेद (ऋग्वेद, यजुर्वेद, सामवेद, अथर्ववेद) इनके मुख से बाहर निकल गए तभी इनको हयग्रीवासुर नामक दैत्य ने चुरा लिया और इनको सागर की गहराई में छिपा दिया .

 

जिसके प्रभाव से पृथ्वी पर अधर्म और पाप बढ़ने लगे जिसको देखकर ब्रह्मा जी चिंतित हो गए और उन्होंने इस बात को  भगवान विष्णु से बताएं जब भगवान विष्णु ने मत्स्य का रूप धारण करके नदी से राजा सत्यव्रत के घर गए और वहां से उनके माध्यम से सागर में पहुंच गए और इसके बाद उन्होंने हयग्रीवासुर और इसके रक्षक सहित सबकी हत्या कर दी और वेदों को  अपने मुख में रखकर ऊपर ले आए जहां से पुनः  वेद ब्रह्मा जी के पास चले गए  जिससे पृथ्वी पर पाप और अधर्म रुक गया.

विष्णु के 10 अवतारों के नाम

जब पृथ्वी पर अधर्म और पाप का बोलबाला हुआ है तब उसे खत्म करने के लिए भगवान विष्णु  अलग-अलग रूपों में अवतार लिए और अधर्म और पाप का नाश करके सत्य की ज्योति को जलाया है क्या आपको पता है भगवान विष्णु के कितने अवतार है? यदि नही तो उन्हीं में से भगवान विष्णु के 10 अवतारों के नाम नीचे दिए गए हैं.

1. मत्स्य अवतार
2. कूर्म अवतार
3. वराह अवतार
4. नरसिंह अवतार
5. वामन अवतार
6. परशुराम अवतार
7. श्री राम अवतार
8. श्री कृष्ण अवतार
9. बुद्ध अवतार
10. कल्कि अवतार

1.मत्स्य अवतार

मत्स्य अवतार फोटो

2. कूर्म अवतार

कूर्म अवतार फोटो

3. वराह अवतार

वराह अवतार फोटो

4. नरसिंह अवतार

नरसिंह अवतार फोटो

5. वामन अवतार

वामन अवतार फोटो

6. परशुराम अवतार

परशुराम जी का फोटो

7. श्री राम अवतार

भगवान विष्णु के 10 अवतार की फोटो

8. श्री कृष्ण अवतार

कृष्णा फोटो डाउनलोड

9. बुद्ध अवतार
बुद्ध फोटो डाउनलोड
10. कल्कि अवतार

यह फोटो कल्पना पर आधारित है इसकी सत्यता की पुष्टि की कोई गारंटी नही है.

कल्कि अवतार

Related Search – Bhagavan Vishnu Ji,भगवान विष्णु,भगवान विष्णु के 10 अवतार की फोटो,भगवान विष्णु के 10 अवतार,vishnu chalisa etc.

 

1 thought on “भगवन विष्णु का पहला अवतार कौन सा है,10 अवतार की फोटो [Bhagvan Vishnu]”

Leave a Comment

फलदायी विष्णु भगवान के 10 चमत्कारी मंत्र