Durga Chalisa: दुर्गा चालीसा पढ़ने से क्या होता है?

दुर्गा चालीसा पढ़ने से क्या होता है

मां दुर्गा चालीसा शब्दों से इस पोस्ट की शुरुआत करते है क्योंकि आज इस पोस्ट में हम यह जानने वाले हैं कि दुर्गा चालीसा पढ़ने से क्या होता है.यह पोस्ट उन लोगों के लिए बहुत खास है जो मां दुर्गा के प्रति श्रद्धा और प्रेम के भाव रखते हैं.मां दुर्गा इस सृष्टि की जननी आदिशक्ति की एक अंश है जिनमें नौ रूपों की पूजा नवरात्रि के महीना में धूमधाम से किया जाता है. तो चलिए हम जानने की यह कोशिश करते हैं कि दुर्गा चालीसा पढ़ने से क्या होता है?

दुर्गा चालीसा – Durga Chalisa

दुर्गा चालीसा एक प्राचीन हिंदू देवी को समर्पित एक धर्म ग्रंथ है,जिसमें मां दुर्गा की महिमा का बखान किया गया है.दुर्गा चालीसा का अर्थ- 40 श्लोक होता है जिसके उच्चारण मात्र करने से मां जगदंबा प्रसन्न हो जाती है और अपने भक्तों के ऊपर अपनी कृपा और दया दिखती है.जिससे उनके सभी कष्ट आसानी से दूर हो जाते हैं.क्या आप जानते हैं कि दुर्गा चालीसा पढ़ने से क्या होता है? यदि नहीं तो चलिए जानने की कोशिश करते हैं कि दुर्गा चालीसा पढ़ने से क्या लाभ मिलता है.

इन्हें पढ़े – श्री दुर्गा चालीसा 

दुर्गा चालीसा पढ़ने से क्या होता है?

दुर्गा चालीसा के पाठ के फायदे उन भक्तों को पता होती हैजो मां दुर्गा की प्रतिदिन भक्ति भाव से पूजा पाठ करते है.दुर्गा चालीसा (Durga chalisa) एक ऐसा माध्यम है जो भक्त को मां दुर्गा के समीप ले जाने का कार्य करता है,जिसके लिए दुर्गा चालीसा मेंकल 40 श्लोक दिए गए हैं जिनके नियमित पाठ करने से निम्नलिखित लाभ मिलते हैं.

#1.मां दुर्गा की कृपा

दुर्गा चालीसा पढ़ने से भक्तों को मां दुर्गा की कृपा की प्राप्ति होती है,जिसकी प्रभाव से उनके सभी कष्ट दूर हो जाते है.मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए दुर्गा चालीसा का उच्चारण करना एक सरल माध्यम है क्योंकि दुर्गा चालीसा के श्लोक भक्त को मां दुर्गा के समीप ले जाते हैं.जिस मां दुर्गा प्रसन्न होकरअपनी दया दृष्टि उस भक्त पर बनाए रखती है.

#2.ध्यान और आध्यात्मिक उन्नति

मां दुर्गा की 40 श्लोक का ध्यान करने से व्यक्ति के मस्तिष्क को शांति मिलती है तथा उसके हृदय में ज्ञान का एक ज्योति पुंज प्रज्वलित होता हैजो उसे एक अध्यात्म की ओर ले जाने का प्रयास करता है.जीवन में किसी भी लक्ष्य को पाने के लिए मस्तिष्क का एकाग्रचित होना बहुत जरूरी होता है.अतः आप भी यदि अपने लक्ष्य को प्राप्त करना चाहते हैं तो आप दुर्गा चालीसा का पाठ नियमित रूप से कर सकते हैं.

#3.दुखों से बचने हेतु 

इंसान की जीवन में दुख और संकट के बादल हमेशा छाए रहते हैं.दुख के बाद सुख और सुख के बाद पुनः दुख आते है परंतु कभी-कभी इंसान के ऊपर दुख के बादल लंबे समय तक बने रहते हैं जिसके कारण वह इंसान अपने शरीर से मुक्ति पाना चाहता है.परंतु इसे सरल उपाय या है कि दुखों से मुक्ति पाने हेतु दुर्गा चालीसा का पाठ करना चाहिए. क्योंकि दुर्गा चालीसा का पाठ करने से मां दुर्गा प्रसन्न होकर अपनी भक्तों को दुखों से मुक्ति दिलाती है. इन्हें भी पढ़े – माँ दुर्गा के 108 नाम 

#4.धन की प्राप्ति 

आज के समय में इंसान के जीवन का मुख्य उद्देश्य धन कमाना बन गया है जिसके लिए वह दिन-रात मेहनत करते रहता है.सनातन धर्म में माता लक्ष्मी को धन की देवीऔर भगवान कुबेर को सोने – चांदी तथा रुपए का देवता माना जाता है.मां दुर्गा तथा माता लक्ष्मी आदि शक्ति की उत्पत्ति हैं इसलिए मां दुर्गा को प्रसन्न करके भी इंसान धन की प्राप्ति कर सकता है जिसके लिए दुर्गा चालीसा का पाठ नियमित रूप से करना होगा. इन्हें भी पढ़े – अम्बे तू है जगदम्बे काली आरती 

दुर्गा चालीसा - Durga Chalisa jpg

निष्कर्ष

निष्कर्ष यह है कि दुर्गा चालीसा का पाठ उन लोगों के लिए महत्वपूर्ण है जो मां दुर्गा के प्रति श्रद्धा और भक्ति का भाव रखते है.मां दुर्गा का कोई भी भक्त होदुर्गा चालीसा का पाठ पढ़कर माता दुर्गा की कृपा का पात्र बन सकता है तथा वह अपने जीवन में उत्पन्न सभी समस्याओं से मुक्ति पा सकता है.

नोट – यह सभी जानकरी केवल ज्ञान के लिए है इसकी सत्यता की जिम्मेदारी की कोई गारंटी इस साईट की नहीं है.क्योकि यह जानकारी धार्मिक ग्रन्थ और इंटरनेट से लिया गया है.

Leave a Comment

फलदायी विष्णु भगवान के 10 चमत्कारी मंत्र