Vishnu Chalisa in Hindi – विष्णु चालीसा [Original]

विष्णु चालीसा (Vishnu Chalisa) भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए बनाया गया है जिसमें भगवान विष्णु के महिमा का प्रशंसा किया गया है. भगवान विष्णु को सृष्टि का पालनहार माना जाता है जो समुंदर में नाग के सईया पर बैठे रहते हैं. हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार,जो व्यक्ति विष्णु चालीसा का पाठ ध्यान पूर्वक करता है उसके सभी कार्य मंगलकारी होते हैं और भगवान विष्णु उसके ऊपर अपनी कृपा बनाए रखते हैं.

Vishnu Chalisa photo

विष्णु चालीसा हिंदू धर्म का एक प्रमुख पाठ्य स्रोत है जिसमें विष्णु चालीसा लिरिक्स (Vishnu Chalisa Lyrics) को लिखा गया है. इस लेख की मदद से आप अपने मोबाइल में Vishnu Chalisa Pdf को डाउनलोड कर सकते हैं जिसके लिए नीचे लिंक दिया गया है.

[Original] Vishnu Chalisa in Hindi – विष्णु चालीसा

विष्णु चालीसा (Vishnu Chalisa) हिंदू धर्म का एक प्रसिद्ध भक्ति का ग्रंथ है  जिसमें कुल 40 श्लोक दिए गए हैं जो भगवान विष्णु की महिमा और उनके गुणों का प्रशंसा करते हैं. हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार विष्णु चालीसा का पाठ  शांत मन और भक्ति निष्ठा के साथ करने से सभी दुख  और बाधाएं समाप्त हो जाती हैं और उस व्यक्ति का जीवन सुखमय व्यतीत होता है.

भगवान विष्णु जी की चालीसा हिंदी भाषा के अलावे इंग्लिश और अन्य भाषाओं में भी लिखा गया है जिसका नियमित उच्चारण आप विशेष रूप से बृहस्पतिवार के दिन कर सकते हैं जिससे ज्यादा लाभ की प्राप्ति होती है. परंतु जो व्यक्ति विष्णु चालीसा का पाठ सही तरीके से नहीं करता है उसे लाभ के बजाय हानि होती है.

यदि आप भी विष्णु चालीसा लिरिक्स को उच्चारण करना चाहते हैं तो नीचे पोस्ट में दिया गया है किसको  पढ़ने के बाद विष्णु चालीसा पीडीएफ (Vishnu Chalisa Pdf) को हिंदी भाषा में डाउनलोड कर सकते हैं.

vishnu chalisa in hindi lyrics image
vishnu chalisa in hindi lyrics image

Vishnu Chalisa Lyrics in Hindi Text

अपने मोबाइल से लैपटॉप में विष्णु चालीसा लिरिक्स को पढ़ सकते हैं या नहीं तो विष्णु चालीसा लिरिक्स इन हिंदी पीडीएफ डाउनलोड भी कर सकते हैं इसके लिए लिंक नीचे दिया गया है.

|| दोहा || 

भक्त ह्रदय में वास करैं, पूर्ण कीजिये काज।

शंखचक्र और गदा पद्म हे विष्णु महाराज।।

|| विष्णुजी की चौपाई ||

नमो विष्णु भगवान खरारी, कष्ट नशावन अखिल बिहारी ।

प्रबल जगत में शक्ति तुम्हारी, त्रिभुवन फैल रही उजियारी ।।2।।

सुन्दर रूप मनोहर सूरत, सरल स्वभाव मोहनी मूरत ।

तन पर पीताम्बर अति सोहत, बैजन्ती माला मन मोहत ।।4।।

शंख चक्र कर गदा बिराजे, देखत दैत्य असुर दल भाजे ।

सत्य धर्म मद लोभ न गाजे, काम क्रोध मद लोभ न छाजे ।।6।।

सन्तभक्त सज्जन मनरंजन, दनुज असुर दुष्टन दल गंजन ।

सुख उपजाय कष्ट सब भंजन, दोष मिटाय करत जन सज्जन ।।8।।

पाप काट भव सिन्धु उतारण, कष्ट नाशकर भक्त उबारण ।

करत अनेक रूप प्रभु धारण, केवल आप भक्ति के कारण ।।10।।

धरणि धेनु बन तुमहिं पुकारा, तब तुम रूप राम का धारा ।

भार उतार असुर दल मारा, रावण आदिक को संहारा ।।12।।

आप वाराह रूप बनाया, हिरण्याक्ष को मार गिराया ।

धर मत्स्य तन सिन्धु बनाया, चौदह रतनन को निकलाया ।।14।।

अमिलख असुरन द्वन्द मचाया, रूप मोहनी आप दिखाया ।

देवन को अमृत पान कराया, असुरन को छवि से बहलाया ।।16।।

कूर्म रूप धर सिन्धु मझाया, मन्द्राचल गिरि तुरत उठाया ।

शंकर का तुम फन्द छुड़ाया, भस्मासुर को रूप दिखाया ।18।

वेदन को जब असुर डुबाया, कर प्रबन्ध उन्हें ढुढवाया ।

मोहित बनकर खलहि नचाया, उसही कर से भस्म कराया ।20।

असुर जलन्धर अति बलदाई, शंकर से उन कीन्ह लडाई ।

हार पार शिव सकल बनाई, कीन सती से छल खल जाई ।22।

सुमिरन कीन तुम्हें शिवरानी, बतलाई सब विपत कहानी ।

तब तुम बने मुनीश्वर ज्ञानी, वृन्दा की सब सुरति भुलानी ।24।

देखत तीन दनुज शैतानी, वृन्दा आय तुम्हें लपटानी ।

हो स्पर्श धर्म क्षति मानी, हना असुर उर शिव शैतानी ।26।

तुमने ध्रुव प्रहलाद उबारे, हिरणाकुश आदिक खल मारे ।

गणिका और अजामिल तारे, बहुत भक्त भव सिन्धु उतारे ।28।

हरहु सकल संताप हमारे, कृपा करहु हरि सिरजन हारे ।

देखहुं मैं निज दरश तुम्हारे, दीन बन्धु भक्तन हितकारे ।30।

चहत आपका सेवक दर्शन, करहु दया अपनी मधुसूदन ।

जानूं नहीं योग्य जब पूजन, होय यज्ञ स्तुति अनुमोदन ।32।

शीलदया सन्तोष सुलक्षण, विदित नहीं व्रतबोध विलक्षण ।

करहुं आपका किस विधि पूजन, कुमति विलोक होत दुख भीषण ।34।

करहुं प्रणाम कौन विधिसुमिरण, कौन भांति मैं करहु समर्पण।

सुर मुनि करत सदा सेवकाई, हर्षित रहत परम गति पाई ।36।

दीन दुखिन पर सदा सहाई, निज जन जान लेव अपनाई ।

पाप दोष संताप नशाओ, भव बन्धन से मुक्त कराओ ।38।

सुत सम्पति दे सुख उपजाओ, निज चरनन का दास बनाओ ।

निगम सदा ये विनय सुनावै, पढ़ै सुनै सो जन सुख पावै ।40।

Vishnu Chalisa in Hindi Lyrics Image

यदि आप अपने मोबाइल में विष्णु चालीसा इन हिंदी लिरिक्स इमेज की मदद से विष्णु चालीसा को पढ़ना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक से आप विष्णु चालीसा (Vishnu Chalisa) लिरिक्स इमेज को फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं और अपनी श्रद्धा भाव से विष्णु चालीसा (Vishnu Chalisa in Hindi) का उच्चारण कर सकते हैं और भगवान विष्णु से मनचाहा फल की प्राप्ति कर सकते हैं.

vishnu chalisa in hindi image

Vishnu Chalisa Pdf in Hindi Free Download

विष्णु चालीसा पीडीएफ (Vishnu Chalisa in Hindi PDF) को हिंदी भाषा में विष्णु जी के फोटो के साथ डाउनलोड कर सकते हैं जिसके लिए आपको नीचे लिंक दिया गया है. वैसे आपको हम बता दें कि विष्णु चालीसा पीडीएफ(Vishnu Chalisa Pdf) में कुल 40  विष्णु श्लोक दिए गए हैं जिनमें विष्णु भगवान के फोटो को भी शामिल किया गया है जिसके मदद से आप अपने घर पर या घर से बाहर कहीं भी संचित वातावरण में विष्णु चालीसा पीडीएफ को आसानी से पढ़ सकते हैं. तो विष्णु चालीसा को डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें. Vishnu Chalisa PDF Download

vishnu chalisa in hindi pdf

विष्णु चालीसा के लाभ

यदि आप भी विष्णु चालीसा (Vishnu Chalisa) का पाठ करना चाहते हैं तो आप इससे मिलने वाले लाभ को जानकर हैरान हो जाएंगे क्योंकि जो व्यक्ति विष्णु चालीसा का पाठ शांत मन के साथ भक्ति भाव से करता है  तो भगवान विष्णु जी हिंदू धर्म के अनुसार उसके सभी कार्यों को सफल बना देते हैं. अतः विष्णु चालीसा के पाठ से मिलने वाले कुछ लाभों को  नीचे दिया गया है.

विष्णु चालीसा के पाठ करने से मन को शांति तथा हमारी मानसिक स्थिरता बनी रहती है क्योंकि विष्णु चालीसा विचारों को स्थिर करके मन को शांति प्रदान करती है जिससे भगवान विष्णु के प्रेम और संरक्षण की प्राप्ति हमें होती है.

 

जो व्यक्ति भक्ति भाव से विष्णु चालीसा का पाठ करता है उसके दुखों और आपत्तियों का नाश होता है क्योंकि भगवान विष्णु के आगमन से अनिष्ट घटनाएं समाप्त होती हैं और जीवन में सुख और समृद्धि की प्राप्ति होती है.

विष्णु चालीसा का नियमित पाठ करने से अध्यात्मिक ज्ञान की प्राप्ति होती है क्योंकि यह विष्णु चालीसा भक्तों को दिव्य ज्ञान और सत्य के प्रकाश में ले जाती है जिससे इंसान सच्चाई और बुराई में आसानी से अंतर कर पाता है.

जो व्यक्ति भक्ति भाव के साथ विष्णु चालीसा (Vishnu Chalisa) का पाठ प्रतिदिन करता है उसको विष्णु के अलावे  ब्रह्मा और शिव का भी आशीर्वाद  मिलता है जिससे उसके जीवन में सुख, समृद्धि, सफलता के साथ रोग मुक्त हो जाता है जिनका उल्लेख  हिंदू धर्मशास्त्र में किया गया है.

हिंदू धर्म शास्त्र के अनुसार जो व्यक्ति विष्णु चालीसा का पाठ भक्ति और प्रेम के साथ करता है उसकी सारी दुष्ट सत्यानाश हो जाती है तथा भगवान विष्णु उसके ऊपर अपना कृपा बनाए रखते हैं.

विष्णु चालीसा (Vishnu Chalisa Lyric) का पाठ नित्य दिन करने से भगवान विष्णु जी की अनंत भक्ति की प्राप्ति होती है क्योंकि यह चालीसा भक्तों को विष्णु की प्रेम से बांधने का कार्य करता है जिससे उस व्यक्ति में भक्ति की भी वृद्धि होती है.

Vishnu Chalisa in Hindi Image

विष्णु चालीसा इन हिंदी इमेज को आप अपने मोबाइल की होम स्क्रीन पर सेट कर सकते हैं और इसको किसी भी सांसद वातावरण में शुद्ध मन और विचार के साथ पढ़ सकते हैं जिससे आपको हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार भगवान विष्णु जी की कृपा की प्राप्ति होती है जिससे आपके सभी कार्य सफल हो जाते हैं.

vishnu mantra image

श्री विष्णु चालीसा I Shree Vishnu Chalisa I ANURADHA PAUDWAL

यदि आप श्री विष्णु चालीसा लिरिक्स को अनुराधा पौडवाल जी की आवाज में सुनना  चाहते हैं तो नीचे दिए गए वीडियो को आप देख सकते हैं जो मूल रूप से हिंदी भाषा में है.

FAQ

Q.विष्णु चालीसा क्या है?

Ans: यह हिंदू धर्म का प्रमुख धार्मिक पाठ है  जो भगवान विष्णु को समर्पित है  जिसके उच्चारण से  मन को शांति और अध्यात्मिक ज्ञान की प्राप्ति होती है इसके अलावा श्री विष्णु भगवान प्रसन्न  होकर अपने भक्तों को सभी कष्टों को दूर कर देते हैं.

Q.विष्णु चालीसा किसने लिखा था?

Ans: विष्णु चालीसा (Vishnu Chalisa) की रचना दुर्वासा ऋषि के आश्रम में सुंदरदास जी के द्वारा किया गया था जो तिवारी गांव के निवासी थे जिससे कोई भी व्यक्ति भगवान विष्णु की महिमा का बखान उनके प्रतिमा के समक्ष कर सकें और उनके भक्ति मार्ग को  कई युगों तक प्रचार कर सके.

Q.विष्णु जी का प्रिय मंत्र कौन सा है?

Ans: विष्णु जी का प्रिय मंत्र “ॐ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्” है जिसका उच्चारण करने से भगवान विष्णु जी प्रसन्न हो जाते हैं.

Q.क्या विष्णु चालीसा हिंदी भाषा में उपलब्ध है?

Ans:  हां, विष्णु चालीसा हिंदी भाषा में लिखा गया है जिसके पीडीएफ को आप ऊपर दिए गए लिंक से डाउनलोड कर सकते हैं.

Q.विष्णु चालीसा का पाठ क्यों किया जाता है?

Ans: विष्णु चालीसा का पाठ भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है क्योंकि विष्णु चालीसा में कुल 40 श्लोक हैं जिनकी उच्चारण मात्र से ही विष्णु भगवान प्रसन्न हो जाते हैं और उच्चारण करता को मनचाहा फल देते हैं जिससे उसके सारे दुख,बुरी शक्तियों का प्रभाव नष्ट हो जाता है.

Related Search – shri hari vishnu chalisa,vishnu chalisa path,bhagwan vishnu chalisa,vishnu chalisa ka paath

फलदायी विष्णु भगवान के 10 चमत्कारी मंत्र