विष्णु जी को क्या क्या चढ़ाना चाहिए? – हिंदी में पूरी जानकरी

भगवान विष्णु को प्रसन्न करने हेतु विष्णु चालीसा (Vishnu Chalisa) का पाठ करना सही माना गया है क्योंकि जो व्यक्ति विष्णु जी की आराधना भक्ति भाव से करता है उसके सारे कष्ट दूर हो जाते हैं. परंतु भगवान विष्णु (Lord Vishnu) जी की पूजन के समय कौन-कौन सी चीजें चढ़ाने चाहिए इसका ज्ञान होना बहुत जरूरी है क्योंकि यदि आप पूजा करते समय गलत नियमों का पालन करते हैं तो आपको लाभ ना होकर हानि हो सकता है.श्री भगवान विष्णु जी की कृपा की प्राप्ति हेतु इस पोस्ट ध्यानपूर्वक पढ़ें.

विष्णु जी को क्या क्या चढ़ाना चाहिए

इस पोस्ट में हमने आपको  ज्योतिष और विष्णु भक्तों के मत के आधार पर यह बताने का प्रयास किया है कि विष्णु जी की पूजा करते समय विष्णु जी को क्या-क्या चढ़ाना चाहिए इससे हमें अधिक से अधिक लाभ की प्राप्ति हो. इन सभी नियमों को नीचे बारीकियों से बताया गया है जिसका अनुसरण करके आप विष्णु चालीसा का पाठ (Vishnu Chalisa Path) तथा विष्णु जी का पूजन आसानी से अपने घर पर कर सकते हैं इसके लिए हमारे साथ अंत तक बने रहिए.

विष्णु जी को क्या क्या चढ़ाना चाहिए? – पूरी जानकरी

हिंदू धर्म और ज्योतिष शास्त्रों (Astrology) के अनुसार गुरुवार (Thursday) के दिन भगवान विष्णु के चालीसा (Vishnu Chalisa) का पाठ करने से सभी कष्ट दूर हो जाते है तथा उस व्यक्ति  के मन को शांति तथा आध्यात्मिक ज्ञान की प्राप्ति होती है. गुरुवार को भगवान बृहस्पति का दिन भी  माना जाता है जिस दिन पीले वस्त्र का धारण करके बृहस्पति भगवान (Lord Brihaspati)और श्री विष्णु जी की पूजा की जाती है जिनके सहयोग से  भक्तों को लाभ मिलता है तथा प्रभु अपनी कृपा उसके ऊपर सदा बनाए रखते हैं. अतः इन सब कार्यों के लिए विष्णु जी को क्या-क्या चढ़ाना चाहिए इसका विवरण नीचे दिया गया है.

इन्हें भी पढ़े – विष्णु चालीसा के लाभ 

#1.श्री भगवान विष्णु जी की पूजा करते समय उनके पसंद के पुष्प और पत्तियों को चढ़ाना चाहिए जिनमें कमल, चंपा, मालती, केवड़ा, मोगरा, कनेर, गेंदा आदि के पुष्प चढ़ाने चाहिए तथा पत्तियों में तुलसी के पौधे के पत्र को विशेष रुप से चढ़ाना चाहिए. जिसके प्रभाव से भगवान विष्णु प्रसन्न हो जाते हैं. परंतु जो व्यक्ति मनचाहे फल की प्राप्ति करना चाहता है तो उसे गुरुवार के दिन विष्णु जी के प्रतिमा के समक्ष 108 तुलसी के पत्ते चढ़ाकर पूजा करना चाहिए. जिससे उसको अधिक लाभ मिलता है.

#2.भगवान विष्णु की पूजन में बहुत सी ऐसी चीजें होती हैं  जिनको भगवान विष्णु के ऊपर नहीं चढ़ाना चाहिए जैसे  अक्षत, माधवी और लोध का फूल आदि को नहीं चढ़ाने चाहिए. इसके अलावा जो  फूल मुरझा गए हो उनका प्रयोग विष्णु जी की पूजन में नहीं करना चाहिए क्योंकि हिंदू धर्म और ज्योतिष शास्त्रों की ऐसी मान्यता है कि इन चीजों को चढ़ाने से व्यक्ति को पुण्य के जगह दोष की प्राप्ति होती है. अतः आप भी इन सब चीजों से सावधानी बरतें.

#3.भगवान विष्णु जी की कृपा पाने के लिए सप्ताह का गुरुवार का दिन सबसे शुभ माना जाता है जिस दिन आप पीपल के पेड़, तुलसी के पौधा और केले के पेड़ को जल  देने के साथ विष्णु चालीसा (Vishnu Chalisa) का पाठ करना चाहिए  इस दिन केले की पेड़ की पूजा करना बी शुभ माना जाता है जिससे आपकी कुंडली में बृहस्पति ग्रह का दोष समाप्त हो जाता है और आपको मनचाहा आशीर्वाद मिलता है.

इन्हें भी पढ़े – विष्णु चालीसा लिरिक्स इन हिंदी 

#4.भगवान विष्णु का पूजन बृहस्पति वार के दिन सबसे शुभ माना जाता है जिस दिन आपको भगवान विष्णु की पूजन के समय  शुद्ध घी के दिए जलाने चाहिए क्योंकि ऐसी मान्यता है कि गुरुवार के दिन शुद्ध घी के दिए जलाने से भगवान विष्णु के साथ देव गुरु बृहस्पति के आशीर्वाद की प्राप्ति होती है.

#5.भगवान विष्णु की कृपा पाने के लिए विष्णु चालीसा (Vishnu Chalisa in Hindi) का पाठ गुरुवार के दिन विधि विधान से करना चाहिए तथा इस दिन आपको उपवास रखना चाहिए इस व्रत को कोई भी व्यक्ति जो विष्णु भक्त हो लगातार 5,11 या 43 सप्ताह तक कर सकता है या यदि उसकी क्षमता हो तो इस व्रत को अपनी पूरी जीवन भी कर सकता है जिससे देवगुरु बृहस्पति तथा भगवान विष्णु की कृपा की प्राप्ति होती है.

#6.भगवान विष्णु जी की पूजा करते समय इनको पीला वस्त्र चलाना चाहिए तथा जो व्यक्ति पूजन कर रहा है उसे भी पीला वस्त्र पहनना चाहिए क्योंकि भगवान विष्णु के साथ गुरु बृहस्पति की कृपा की प्राप्ति होती है तथा इन दोनों को पीले वस्त्र या पीला फूल काफी पसंद है. बृहस्पति को सभी ग्रहों में सबसे बड़ा माना गया है जिनका रंग हल्के पीले रंग का है इसलिए गुरुवार के दिन पूजन करते समय हमें पीला वस्त्र पहनना चाहिए.

#7.गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा करने का सबसे शुभ दिन माना जाता है क्योंकि जो व्यक्ति  इस दिन भगवान विष्णु  का पूजा भक्ति भाव से करता है तो उसे मनचाहे आशीर्वाद की प्राप्ति होती है जो पूजन  करते समय भगवान को तिलक लगाने हेतु हल्दी या केसर का प्रयोग  करना चाहिए तथा इनको तिलक लगाने के पश्चात स्वयं भी प्रसाद के रूप में तिलक लगाएं तथा जो प्रसाद आपने तैयार की हो उन्हें अपने आसपास के लोगों में बांट दें तथा स्वयं भी ग्रहण करें.

श्री विष्णु जी को क्या नहीं चढ़ाना चाहिए

भगवान विष्णु की पूजा करते समय बहुत सी ऐसी सामग्री होती है जिसका उपयोग पूजन में नहीं किया जाता है  जिनमें से कुछ सामग्री को नीचे दिया गया है जो ज्योतिष और विष्णु भक्तों के मतों के आधार पर आधारित है.

गुलाल या रंग: भगवान विष्णु की पूजा में गुलाल या रंग चढ़ाना उचित नहीं है। भगवान विष्णु की पूजा में प्राकृतिक रंगों का उपयोग कर सकते हैं, जैसे हल्दी और कुंकुम।

मट्ठा या दूध: भगवान विष्णु को मट्ठा या दूध नहीं चढ़ाना चाहिए। विष्णु पूजा में पानी, दही, घी, शक्कर आदि उपयोग कर सकते हैं, लेकिन दूध का उपयोग नहीं करना चाहिए।

मांस: भगवान विष्णु की पूजा में मांस का उपयोग करना उचित नहीं है। विष्णु भक्ति में शाकाहारी आहार का पालन करना अधिक उचित माना जाता है।

अक्खरोट या बादाम: विष्णु पूजा में अक्खरोट या बादाम चढ़ाना नहीं चाहिए। विष्णु पूजा में परंपरागत भोज्य पदार्थों का उपयोग कर सकते हैं, जैसे फल, मिठाई, ताम्बूल, तुलसी, नारियल आदि।

धूप और अगरबत्ती: विष्णु पूजा में धूप और अगरबत्ती चढ़ाने के बजाय दिये का उपयोग करना उचित माना जाता है। दिये विष्णु की पूजा में प्रशंसा के लिए उपयोगी होते हैं।

निष्कर्ष

भगवान विष्णु जी (Shree vishnu ji) की पूजा करते समय तुलसी पत्र, केला का  पेड़ और पीपल के वृक्ष की पूजा करना शुभ माना गया है जिसमें आप  गुरुवार के दिन इन वृक्षों के पास  शुद्ध घी के दीपक जलाकर जल दे सकते हैं जिससे आपको भगवान विष्णु और गुरु बृहस्पति की कृपा की प्राप्ति होती है.

अतः ऊपर बताए गए सभी नियमों को एक सामान्य जानकारी के लिए दिया गया है जिसको मानना या नहीं मांगना आपके मन के ऊपर है जिसका 100% सत्यता की पुष्टि नहीं किया गया है.

(यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं, इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है. इसे सामान्य जानकारी को ध्यान में रखकर यहां  लिखा गया है. जिसका पालन करना आपके विचार पर निर्भर करता है.)

1 thought on “विष्णु जी को क्या क्या चढ़ाना चाहिए? – हिंदी में पूरी जानकरी”

Leave a Comment

फलदायी विष्णु भगवान के 10 चमत्कारी मंत्र